प्रयोक्ता रेटिंग: 5 /5

सक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारक
 


birdhouse hotelकीवी दौलत घरों में (Kiwi Daulat Gharon Me) केन्द्रित होना चिन्ता का विषय हो सकता है, पर इसी कारण पिछले दशक भर समृद्धि लाने में दुनिया में सबसे आगे रहा न्यूज़ीलैंड ...

पिछली कहानी: दौलत देगी सुराग

दुनिया की दौलत तेज़ी से कुछ हाथों में सिमटती जा रही थी, रोष ने सोचा|

2015 की एक क्रेडिट सुईस रिपोर्ट ने पाया था कि USD 250 ट्रिलियन (2500 खरब, या 25 नील यू एस डॉलर) की अनुमानित वैश्विक संपत्ति के ठीक 50% के मालिक, दुनिया के सबसे रईस 1% लोग थे|

अब, सिर्फ 8 आदमियों के पास इतनी दौलत हो गयी थी, जितनी बाकी की आधी मानव जाति के पास कुल मिलाकर थी|

स्विस बैंक की रिपोर्टों में ग्लोबल वेल्थ पिरामिड के आँकड़े दिलचस्प थे| 2014 की यूबीएस (यूनियन बैंक ऑफ स्विट्जरलैंड) अल्ट्रा वेल्थ रिपोर्ट के अनुसार भी, सिर्फ 30,000 (दुनिया के केवल 0.004%) 'अल्ट्रा हाई नेट वर्थ व्यक्ति’ (जिनमें से शायद 1000 न्यूजीलैंड वासी थे), और जिनके कुल एसेट्स 30 मिलियन (1 मिलियन = 10 लाख) अमरीकी डालर से ज़्यादा थे, वैश्विक धन में हैरतंगेज़ 13% की मिल्कियत रखते थे|

पृथ्वी पर केवल 20 लाख लोग ही ऐसे थे, जो 5-30 मिलियन अमरीकी डालर धन के स्वामी थे|

केवल 2.30 करोड़ लोगों के पास 1-5 मिलियन अमेरीकी डॉलर की संपत्ति थी|

तो, दुनिया की 750 करोड़ आबादी (7.5 बिलियन) के मात्र 0.33%, यानि केवल ढाई (2.5) करोड़ लोगों के पास, 1 मिलियन अमरीकी डालर से अधिक की शुद्ध संपत्ति थी| न्यूजीलैंड के हज़ारों घर 1 मिलियन (10 लाख) अमरीकी डॉलर से ज़्यादा कीमत के थे|

2016 की क्रेडिट सुइस ग्लोबल वेल्थ रिपोर्ट के अनुसार, स्विट्जरलैंड के नागरिक दुनिया में सबसे धनी थे (प्रति वयस्क अमरीकी डालर 562,000), जिनके बाद आते थे बाशिन्दे ऑस्ट्रेलिया (अमरीकी डालर 376,000), संयुक्त राज्य अमेरिका (USD 345,000) और नॉर्वे (USD 312,000) के|

दिलचस्प बात यह थी, कि कीवी वयस्क औसतन 299,000 अमरीकी डालर (NZD 422,700) का मालिक होने के कारण, न्यूज़ीलैण्ड वासी पृथ्वी के वर्तमान पांचवें सबसे अमीर लोग बन गए|

जब प्रति वयस्क मीडियन (मंझला) धन के लिए ये गणना संशोधित की गयी, तो न्यूजीलैंड एक स्थान ऊपर सरक कर स्विट्जरलैंड, ऑस्ट्रेलिया और बेल्जियम के बाद चौथे स्थान पर आ गया|

रिपोर्ट ने पाया कि दुनिया के सबसे अमीर 10% में होने के लिए, एक व्यक्ति को केवल 71,600 अमरीकी डालर की ज़रूरत थी| दुनिया के वयस्कों में से आधे, 2,222 अमरीकी डालर से भी कम का स्वामित्व रखते थे, जबकि सबसे गरीब 20% में लोगों की मिल्कियत 248 अमरीकी डॉलर से भी कम थी|

उल्लेखनीय था, कि इसी वजह से कीवी वयस्कों में से एक तिहाई से अधिक की गिनती दुनिया के सबसे अमीर 10% लोगों में आ पहुँची|

वर्ष जून 2015 तक के घरेलू नेट वर्थ आँकड़ों के अनुसार, कीवियों का मीडियन निवल मूल्य 87,000 NZD (न्यूज़ीलैण्ड डॉलर) था| यूरोपीय मूल के कीवी (न्यूज़ीलैण्ड की आबादी का 69%) की व्यक्तिगत मीडियन नेट वर्थ NZD 114,000, एशियाई कीवी (9%) की NZD 33,000, माओरी कीवी (15%) की NZD 23,000, और प्रशांत द्वीपों के मूल वाले कीवी (7%) की NZD 12,000 थी|

तो क्या हम अचानक उछल कर इस साल समृद्धि में आ पहुँचे थे? लेगाटम समृद्धि सूचकांक के हिसाब से तो नहीं, जिसके अनुसार पिछले एक दशक से, ‘धन को समृद्धि में परिवर्तित करने की अपनी बेजोड़ क्षमता' की वजह से समृद्धि लाने में सबसे आगे रहा था न्यूज़ीलैंड| केवल धन के मुकाबले समृद्धि एक व्यापक मापदण्ड था|

हाल की पूंजी बाज़ार की चढ़त और विनिमय दर में सुधार ने न्यूजीलैंड भर में समृद्धि बनाए रखने में मदद की थी, जो सिर्फ कुछ चुनिंदा लोगों तक सीमित नहीं रही थी|

फिर भी, असमानता भी थी, क्योंकि चोटी के 10% कीवी परिवार न्यूज़ीलैंड की लगभग आधी नेट वर्थ के मालिक थे|

लेकिन मिल्कियत का ये पैटर्न ओईसीडी (OECD) औसत जैसा ही था| हमारे सबसे अमीर 1% घरानों की कुल नेट वर्थ में 18% की हिस्सेदारी थी, फिर ओईसीडी औसत जैसी ही, लेकिन ऑस्ट्रेलिया से कुछ ज्यादा (जहां शीर्ष 1% लोग देश की कुल संपत्ति का 13% स्वामित्व रखते थे)|

अपने हाल के एक साप्ताहिक समाचार पत्र में, क्रिस ली ने लिखा था कि 28,000 अमरीकी डालर (NZD 40,000) सालाना से अधिक कमाने वाले वैतनिक कीवी, विश्व स्तर पर शीर्ष के 10% अर्जकों में से थे| इसके अलावा, NZD 72,000 से अधिक की टैक्स-पेड वार्षिक आय वाला कोई भी सेवानिवृत्त न्यूज़ीलैंड परिवार, न्यूज़ीलैंड के सबसे अमीर 3% रिटायर्ड परिवारों में से था, और दुनिया-भर के सबसे अमीर 1% रिटायर्ड परिवारों में से एक|

फिर भी, लगभग एक चौथाई कीवी वित्तीय मदद ले रहे थे, और 45 लाख लोगों के देश में 10 लाख से ज़्यादा कीवी भत्ता पाते थे (साधन-परीक्षित बारोज़गार परिवार और साधन-अपरीक्षित न्यूजीलैंड सुपर मिलाकर)|

इन लाभार्थियों में से 70% (718,000) आज सरकारी पेंशन पर थे, जो (वर्तमान में) हर 65 या उससे ज़्यादा उम्र वाले को, उनकी परिस्थितियों के आधार पर, NZD15,000 - 20,000 प्रतिवर्ष देती थी|

न्यूज़ीलैंड के रिटायर्ड परिवारों में से बहुत कम ही, शेयर, बांड, बैंक में जमा पूँजी या किराए के मकान रखते थे| एक मीडियन रिटायर्ड परिवार के पास बैंक में जमा कैश, शेयर, बांड या अन्य गैर-घरेलू परिसंपत्तियों में लगभग NZD 30,000 थे|

लेकिन, सार्वभौमिक न्यूज़ीलैंड पेंशन हर सेवानिवृत्त को सरकारी गारंटी वाली एक पेंशन का हकदार बना देती थी, जिसका पूंजीगत मूल्य (कैपिटल वैल्यू) शायद NZD 300,000 के आसपास होगा|

तो, कीवी दौलत के आँकड़े कहाँ ले जा रहे थे उसे? ज़ाहिर था, पहले मकानों की ओर| न्यूज़ीलैंड के आधे से अधिक परिवार (51%) अपने-अपने घरों के मालिक थे (59%, अगर ट्रस्ट के माध्यम से स्वामित्व वाले आवास भी शामिल कर लिए जाएँ, क्योंकि 12% ऐसे घर ट्रस्टों में थे - जहाँ रहने वाले अपने कब्ज़े के मकान के मालिक भी थे)|

जैसी कि उम्मीद थी, अमीर ज़्यादा महँगे घरों के मालिक थे, और उन्हें खरीदने में पारिवारिक ट्रस्ट का इस्तेमाल ज़्यादा करते थे|

अपने स्वामित्व के घरों में रहने वाले न्यूज़ीलैंड परिवारों में से 56% के घर गिरवी पड़े थे, और मीडियन मोर्गेज NZD 172,000 (77 लाख रूपए) थी| संपत्ति के हर डॉलर पर, न्यूजीलैंड परिवारों पर 2014/15 में 12 सेंट (12%) की उधारी थी, जो अपने निवास पर कर्ज़ (60%+), 'अन्य अचल संपत्ति' के लिए उधार (24%), शिक्षा ऋण, और फर्नीचर और कारों आदि के लिए ऋण के लिए ली गयी थी|

छुट्टी बिताने के घर, टाइमशैयर, वाणिज्यिक इमारतें, दुकानें, ऑफिस, भाड़े के मकान, और भूमि 'अन्य अचल संपत्ति' श्रेणी में आते थे| यह वर्ग न्यूज़ीलैण्ड परिवारों की कुल गैर-वित्तीय संपत्ति का केवल 16% था, और उनके कुल घरेलू परिसंपत्ति मूल्य (एसेट वैल्यू) का केवल 8%|

फिर भी, 10 में से 1 से अधिक (14%) कीवी परिवार, अपनी रिहायश के घर के अलावा भी किसी और अचल संपत्ति के स्वामी थे|

लगभग हर पाँचवां कीवी परिवार (19 प्रतिशत) किसी न किसी ट्रस्ट में शामिल था, यानि 322,000 घरों में से घर का कम से कम एक सदस्य (स्वतंत्र न्यासी के रूप में काम करने वालों को छोड़ कर) स्थापक, लाभार्थी, न्यासी, या किसी और तरह से किसी कीवी ट्रस्ट से जुड़ा था|

जिन परिवारों की संपत्ति ट्रस्ट में थी, उस संपत्ति का मीडियन मूल्य लगभग NZD 700,000 (3.15 करोड़ रुपये) था| जिन परिवारों के ट्रस्ट पर कर्ज़ थे, उनकी देनदारी का मीडियन मूल्य करीबन NZD 300,000 (1.35 करोड़ रुपए) था| ये संख्याएँ अपेक्षाकृत काफी बड़ी थीं, क्योंकि ट्रस्ट संपत्ति और देनदारी का बड़ा हिस्सा काबिज़-मकान और खेतों से सम्बद्ध था|

अगर 2014/2015 में आपकी नेट वर्थ NZD 815,000 (3.7 करोड़ रुपये) से अधिक थी, तो आप सबसे अमीर 20% कीवी परिवारों (शीर्ष पंचमक) में से एक थे| । शीर्ष पंचमक के परिवारों के पास अधिक नकदी और जमाखाते, शेयर, ट्रस्टों और व्यवसायों में मिल्कियत (इक्विटी), अन्य वित्तीय निवेश, और कम पंचमक परिवारों के ऋण अनुपात से कम ऋण था|

तो, सारी कीवी दौलत घरों में संचित नहीं थी| सवाल अब ये था, कि इसमें से कितना विदेशों में निवेशित था?

अगली कहानी: जड़ें जमाने दो