प्रयोक्ता रेटिंग: 5 /5

सक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारक
 


yummy fruit balls

नारियल लड्डू मिठाई (Nariyal Laddu Mithai) होश को फटाफट बनाना सिखाती है ईशा|

 

सस्ती, सरल, मेहमानों की पसंदीदा, आसान मिठाई|

 

कुकिंग टिप्स व रेसिपी वाली पाककला कहानी

पिछली कहानी: पढ़ें इस किस्से से पहले की कथा: (अभी अप्रकाशित)

होश जानता था कि माँ मेहमानों के लिए खाना बनाने में व्यस्त है, तो आज शाम उसे कुकिंग सिखाने के लिए उनके पास वक़्त नहीं होगा|

फिर भी, बहुत सोचने-विचारने के बाद, उसने किचन में आने का फैसला किया, ये देखने के लिए कि वह माँ की किसी चीज़ में मदद कर सकता है या नहीं|

उसे देख कर वह मुस्कुरायी, और उसे अन्दर आने का इशारा किया|

“मिठाई बनाने की तैयारी कर ही रही थी,” वह बोली| “उसमें मेरी मदद कर सकता है तू|”

“फटाफट बनने वाली एक सरल मिठाई बनाने जा रही हूँ मैं, जो हमारे लगभग सब मेहमानों को पसंद आती है| कोकोनट बॉल्स, यानि नारियल लड्डू, जो तुझे बेहद पसंद हैं|”

मिलकर, उन्होंने एक नॉन-स्टिक पैन (न चिपकने वाली कड़ाही) में कंडेंस्ड मिल्क (गाढ़ा दूध) उड़ेला| ईशा ने कहा कि वे भारी तले वाला पैन भी इस्तेमाल कर सकते थे| उसमें उन्होंने साढ़े तीन कप नारियल का बूरा डालकर अच्छे से मिलाया| ईशा ने ये सब उससे धीमी आँच पर पकवाया, और लगातार चलवाया|

“नारियल बेहद पौष्टिक होता है,” मिश्रण हिलवाते हुए ईशा ने उसे बताया, “और फाइबर (रेशे), विटामिन और खनिजों से भरा हुआ| दुनिया की लगभग एक तिहाई आबादी अपने भोजन और अर्थव्यवस्था के लिए कुछ हद तक नारियल पर निर्भर करती है|”

“कैसे पता चलेगा कि ये बन गया, माँ?” उसने पूछा| “कैसे पता करते हो आप कि मीठा ठीक है?”

“चम्मच-भर चख लेना सबसे बढ़िया तरीका है,” ईशा ने जवाब दिया, “पता करने का कि मिठास ठीक है कि नहीं, और तब अगर ज़रूरत पड़े तो चीनी और डाल सकते हो| लेकिन नारियल स्वाभाविक रूप से मीठा होता है, और कंडेंस्ड मिल्क में भी चीनी होती है, तो मैं अलग से चीनी नहीं डालती|”

“ज़्यादा चीनी वैसे भी तुम्हारे लिए ठीक नहीं| जब मिश्रण पैन की साइड में चिपकना बंद हो जाये, तो पता चल जाता है कि ये बन गया|”

बनने के बाद उन्होंने उसे तब तक ठंडा होने छोड़ दिया, जब तक वो हाथ लगाने लायक नहीं हो गया| आज कोई सामग्री सूची थी नहीं, लेकिन बनाने की रेसिपी ही इतनी आसान थी और सामग्री में इतनी कम चीज़ें प्रयोग हुई थीं, कि मिश्रण के ठंडा होने की इंतज़ार करते हुए होश ने खुद ही बनाने की विधि और क्या-क्या चाहिए था – ये सब ठीक-ठीक लिख कर अपने रेसिपी फोल्डर में फाइल कर लिया| उसने लिखा:

सामग्री:

• 4 कप निर्जलीकृत नारियल (सूखा बुरादा)
• 1 टिन कंडेंस्ड मिल्क
• 1 चम्मच मक्खन
• 1/2 चम्मच इलायची पाउडर

कुछ ही समय में, मिश्रण हाथ से पेड़े बनाने लायक ठंडा हो गया| ईशा ने पहले उसकी हथेलियों पर मक्खन रगड़वा कर उन्हें चिकना करवाया| फिर माँ की देखा-देखी, उसने भी मिश्रण के अंश हाथों में घुमा-घुमा कर टेबल-टेनिस के आकार के गोले बनाये| इन गेंदों पर उन्होंने बचा-खुचा सूखा नारियल पाउडर मल दिया, ताकि वे चिपके नहीं|

उन्हें रंग-बिरंगा बनाने के लिए, ईशा ने पिस्ते बारीक-बारीक काटकर कुछ लड्डूओं पर लगा दिए|

“पिस्ते लगाना ज़रूरी नहीं है,” ईशा ने टिप दी| “लागत बहुत बढ़ जाती है|”

जब सब लडडू बन गए, तो उनका आकार बनाए रखने के लिए उन्होंने उन्हें फ्रिज में ठंडा होने रख दिया| आमतौर की तरह, उस रात भी गोले के लड्डू हिट रहे|

अगली कहानी: पढ़ें इस किस्से से आगे की कथा: (अभी अप्रकाशित)