प्रयोक्ता रेटिंग: 5 /5

सक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारकसक्रिय तारक
 


Aloo jeera at Barwachi.मसालेदार जीरा आलू (Masaledar Jira Alu) कैसे बनायें?

 

ईशा होश को तले उबले आलू पकाना सिखाती है|

 

झटपट तैयार होने वाला सस्ता, सरल, स्वादिष्ट व् स्वस्थ भारतीय व्यंजन|

पिछली कहानी: जीरा - मास्टर मसाला

अगली शाम होश अपने खाना पकाने के सबक का इंतज़ार कर रहा था|

"माँ," उसने कहा। "क्या हम आज फिर से जीरा भून सकते हैं, इस समय आप देखना और मैं करूँगा।"

“ज़रूर,” ईशा ने कहा| “बल्कि, दही के साथ खाने के लिए तुम एक पूरा व्यंजन ही पका लो आज| बिलकुल आसान है, और तुम इसे झटपट बना भी सकते हो|”

“नाम है इसका आलू जीरा| है तो ये बस तले हुए उबले आलू और प्राकृतिक जीरा, लेकिन ये व्यंजन है खूब स्वादिष्ट और गुणकारी।"

"लेकिन माँ," होश ने कहा। "इसके इन्ग्रीडीएंट्स (Ingredients) तो मैं कुछ ही दिन में भूल जाऊँगा| और मुझे नहीं लगता कि मसालों के बारे में मैं इतना सीख गया हूँ कि पूरे पकवान बनाने शुरू कर सकूँ| क्या आपको सच में लगता है कि मैं भोजन पका लेने के लिए तैयार हूँ?"

"बिलकुल,” उसे देखते हुए वह मुस्करायी| “जितने तैयार तुम हो सकते थे, उतने हो गए हो| और सामग्री तुम भूलोगे नहीं, क्योंकि तुम्हारे लिए मैं उसकी सूची बना दूँगी।"

"याद रखना लेकिन, कि सामग्री-सूची और रेसिपी सिर्फ शुरुआत के लिए मार्गदर्शन भर होते हैं| जैसे-जैसे तुम्हारा आत्मविश्वास बढ़ेगा, वैसे-वैसे इंडियन कुकिंग में तुम इनमें फेर बदल करना सीख जाओगे|”

ईशा ने कागज के एक टुकड़े पर जल्दी से कुछ लिखा और होश को दे दिया। उसमें लिखा था:

सामग्री सूची

• 500 ग्राम उबले आलू
• 1/2 चम्मच जीरा (किसी और दिन 1/2 चम्मच राई इस्तेमाल कर सकते हो तले हुए राई आलू बनाने के लिए)
• 1/2 चम्मच मेथीदाना (ज़रूरी नहीं है)
• हींग की एक चुटकी (ज़रूरी नहीं है)
• 1 चम्मच हल्दी पाउडर
• 1 चम्मच जीरा पाउडर
• 1 चम्मच धनिया पाउडर
• 1 चम्मच हरी मिर्च पेस्ट (ज़रूरी नहीं है)
• 1 या 2 चम्मच तेल (पसंद अनुसार)
• नमक (स्वाद अनुसार)
• ताज़ा धनिया सजावट के लिए

घटक इकट्ठे करने में दोनों को अधिक समय नहीं लगा, क्योंकि रसोई में सब कुछ था ही। मिल जुल कर उन्होंने आलू धोये और छोटे-छोटे टुकड़ों में काट लिए। एक फ्राई पैन (frypan) में उन्होंने तेल गरम किया और फिर उसमें जीरा (राई) के बीज, मेथी दाना और हींग छोड़ दिए।

होश ने ढक्कन बंद करके इनको तब तक तला जब तक इनकी कड़कड़ाहट सुनाई देती रही| कोलाहल बंद होने के बाद उसने तेल में आलू छोड़ दिए| ईशा ने कहा कि अब वह बीच-बीच में ढक्कन हटा कर उन्हें हिलाए| फिर उन्होंने हल्दी, जीरा और धनिया पाउडर, हरी मिर्च का पेस्ट और नमक पैन में डाल दिए।

होश को इस बात पर काफी गर्व महसूस हो रहा था कि उसकी माँ को लगता है कि खाना पकाने के लिए अब वह बिलकुल तैयार है| ईशा से बातचीत करते हुए वह कभी-कभी आलुओं को हिला देता|

ईशा ने उसे बताया कि क्योंकि यह व्यंजन सूखी करी है, इसलिए आलू पकने से 10 मिनट पहले तक वह दोबारा ढक्कन बंद न करे।

"अलग-अलग लोग इसे अलग-अलग तरीके से बनाते हैं,” उसने कहा, "कभी वक़्त मिले तो यूट्यूब (YouTube) पर इसे बनाने की अलग-अलग विधियाँ देख सकते हो।"

"लेकिन आपको कैसे पता लगता है कि ये पक गए हैं?" होश ने पूछा। "और कैसे आप ये जानोगे कि पकने पर ये स्वादिष्ट होंगे?"

“कड़छी या चाकू से इन्हें पैन के नीचे या उसकी साइड में भींचने की कोशिश करो,” उसने जवाब दिया, "जैसे गर्म चाकू मक्खन से गुज़र जाता है, वैसी आसानी से अगर ये कट या दब जाते हैं, तो ये पक गए हैं|”

“पहले-पहल जब तुम्हें लगे कि ये बन गए हैं तो अपनी उँगलियों के बीच तुम इन्हें दबाने की कोशिश भी कर सकते हो, लेकिन खबरदार, क्योंकि छूने में ये बहुत गर्म होंगे|"

"जहाँ तक स्वाद का सवाल है, तो एक उठा कर अपने मुंह में डालने और चखने से बढ़िया कोई और परख है नहीं| यदि ये नमकीन थोड़े कम लगें तो थोड़ा नमक और डाल लो, हालांकि बहुत ज़्यादा नमक किसी के लिए अच्छा नहीं होता।"

तो ढक्कन उतार कर उसने उन्हें खुला पकाया, और चख कर उसी तरह जांच की जिस तरह उन्होंने उसे करना सिखाया था| फिर परोसने से पहले ईशा ने बारीक कटे ताज़ा धनिये से उसे ज़रा सजाया। तय हुआ कि भोजन के बाद तक किसी को नहीं बताया जाएगा कि जीरा आलू आज होश ने बनाया है|

रात के खाने में आलू जीरे की वैसी ही तारीफ हुई जैसी आमतौर पर होती थी| इन तारीफों पर आज रात माँ-बेटे के बीच जो गुप्त मुस्कुराहटों का आदान-प्रदान हुआ था, उसपर किसी का कोई ध्यान नहीं गया|

अगली कहानी: सब्ज़ियों को भाप कैसे दें?